अंडमान में भूकंप से कांपी धरती, रिक्टर पैमाने पर मापी गई इतनी तीव्रता -
Nicobar Earthquake

अंडमान में भूकंप से कांपी धरती, रिक्टर पैमाने पर मापी गई इतनी तीव्रता

Nicobar Earthquake: अंडमान निकोबार में सुबह के समय भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 4.1 मापी गई है।

जापान में आया था शक्तिशाली भूकंप

हालही में जापान में भी भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए थे। मध्य जापान में मंगलवार को 6.0 तीव्रता का भूकंप आया था। जापान मौसम विज्ञान एजेंसी ने बताया था कि भूकंप जापान सागर के तट पर आया, जिससे देश का वही हिस्सा हिल गया जहां 1 जनवरी को एक शक्तिशाली भूकंप ने मध्य जापान के हिस्सों को तबाह कर दिया था। भूकंप के झटकों ने व्यापक विनाश किया और मरने वालों की संख्या 200 से अधिक हो चुकी है। अधिकारियों ने कहा कि 100 का अभी भी पता नहीं चल पाया है।

रिक्टर स्केल और भूकंप की तीव्रता का संबंध?

0 से 1.9 रिक्टर स्केल पर भूकंप आने पर सिर्फ सीज्मोग्राफ से ही पता चलता है।
2 से 2.9 रिक्टर स्केल पर भूकंप आने पर हल्का कंपन होता है।
3 से 3.9 रिक्टर स्केल पर भूकंप आने पर कोई ट्रक आपके नजदीक से गुजर जाए, ऐसा असर होता है।
4 से 4.9 रिक्टर स्केल पर भूकंप आने पर खिड़कियां टूट सकती हैं। दीवारों पर टंगी फ्रेम गिर सकती हैं।
5 से 5.9 रिक्टर स्केल पर भूकंप आने पर फर्नीचर हिल सकता है।
6 से 6.9 रिक्टर स्केल पर भूकंप आने पर इमारतों की नींव दरक सकती है। ऊपरी मंजिलों को नुकसान हो सकता है।
7 से 7.9 रिक्टर स्केल पर भूकंप आने पर इमारतें गिर जाती हैं। जमीन के अंदर पाइप फट जाते हैं।
8 से 8.9 रिक्टर स्केल पर भूकंप आने पर इमारतों सहित बड़े पुल भी गिर जाते हैं।
9 और उससे ज्यादा रिक्टर स्केल पर भूकंप आने पर पूरी तबाही। कोई मैदान में खड़ा हो तो उसे धरती लहराते हुए दिखेगी। समंदर नजदीक हो तो सुनामी। भूकंप में रिक्टर पैमाने का हर स्केल पिछले स्केल के मुकाबले 10 गुना ज्यादा ताकतवर होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *