भारतीयों से पंगा लेना मुइज्‍जू को पड़ा भारी, श्रीलंका ने 4 साल बाद मालदीव को पछाड़ा, भारत के टूरिस्‍ट सबसे आगे -
Maldives Vs Sri Lanka Indian Tourist

भारतीयों से पंगा लेना मुइज्‍जू को पड़ा भारी, श्रीलंका ने 4 साल बाद मालदीव को पछाड़ा, भारत के टूरिस्‍ट सबसे आगे

Maldives Vs Sri Lanka Indian Tourist: भारतीयों से पंगा लेने वाले मालदीव को यह दुश्‍मनी बहुत भारी पड़ रही है। मालदीव को पड़ोसी श्रीलंका ने पिछले महीने व‍िदेशी पर्यटकों के मामले में पीछे छोड़ दिया है। मालदीव को धरती पर स्‍वर्ग कहा जाता और उसके समुद्री तट दुनियाभर के पर्यटकों के लिए पहली पसंद रहे हैं लेकिन अब श्रीलंका ने 4 साल बाद पहली बार उसे पीछे छोड़ दिया है। श्रीलंका में सबसे ज्‍यादा संख्‍या भारतीय पर्यटकों की रही। भारतीय पर्यटकों के लिए श्रीलंका जहां पसंदीदा ठिकाना बन गया है, वहीं मालदीव से उन्‍होंने दूरी बनाना शुरू कर दिया है। मालदीव में भारतीय पर्यटकों की संख्‍या सबसे ज्‍यादा होती थी लेकिन अब भारतीय 5वें नंबर पर पहुंच गए हैं।

मालदीव की मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय पर्यटकों ने पिछले महीने श्रीलंका का रुख किया जिससे उसने मालदीव को पीछे छोड़ दिया। पिछले महीने के आंकड़े के मुताबिक मालदीव में जहां जनवरी में 1,92,385 टूरिस्‍ट आए, वहीं श्रीलंका में 2,08,253 टूरिस्‍ट आए। श्रीलंका के टूरिज्‍म के आंकड़े के मुताबिक पिछले महीने भारत से आने वाले पर्यटकों की संख्‍या 100 फीसदी बढ़ गई है। श्रीलंका में भारतीय पर्यटकों की संख्‍या में जनवरी में 13,759 से बढ़कर 34,399 तक पहुंच गई। पिछले साल जनवरी महीने में 17,029 भारतीय पर्यटक मालदीव पहुंचे थे, वहीं इस साल जनवरी में भारतीय पर्यटकों की संख्‍या 15,006 रही।

भारतीयों की पसंद बना श्रीलंका, मालदीव पीछे छूटा

श्रीलंका के लिए जनवरी महीने में भारत सबसे बड़ा टूरिस्‍ट मार्केट रहा। जनवरी में भारत से 34,399, रूस से 31,159, ब्रिटेन से 16,665, जर्मनी से 13,593, चीन से 11,511 पर्यटक श्रीलंका पहुंचे। वहीं मालदीव के लिए टूरिस्‍ट मार्केट के ल‍िहाज से जनवरी में रूस पहले, चीन दूसरे, इटली तीसरे, ब्रिटेन चौथे और भारत पांचवें पायदान पर रहा। बता दें कि भारत और मालदीव के बीच जनवरी महीने में ही लक्षद्वीप और पीएम मोदी के खिलाफ अपमानजनक टिप्‍पणी को लेकर व‍िवाद हो गया था। श्रीलंका में पिछले साल कुल 14,87,303 टूरिस्‍ट पहुंचे। वहीं मालदीव में कुल पर्यटकों की संख्‍या 18,78,543 रही।

मालदीव के साथ चल रहे व‍िवाद के बीच श्रीलंका अब भारतीय पर्यटकों के लिए पसंदीदा ठिकाना बनकर उभरा है। अभी हाल ही में भारतीय व‍िदेश मंत्री एस जयशंकर ने भी भारतीय पर्यटकों से श्रीलंका आने की अपील की थी। पिछले दिनों भारतीयों ने सोशल मीडिया में मालदीव बायकॉट का जोरदार अभियान चलाया था। इसमें सचिन से लेकर कई फ‍िल्‍म स्‍टार भी शामिल थे। मालदीव के मंत्रियों के भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अपमान को लेकर भारत में यह तीखी प्रतिक्रिया हुई थी। इसके बाद मालदीव के राष्‍ट्रपति मुइज्‍जू ने चीन की यात्रा की और वहां से आने के बाद भारत के खिलाफ जमकर जहर उगला था। पर्यटन मालदीव की कमाई का बड़ा स्रोत है और भारतीय पर्यटकों के किनारा करने से उसे बड़ा झटका लगा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *