"मैंने गोली मारी, लेकिन कोई पछतावा नहीं": शिंदे गुट के नेता पर फायरिंग करने वाले BJP विधायक -
Maharashtra Firing Case

“मैंने गोली मारी, लेकिन कोई पछतावा नहीं”: शिंदे गुट के नेता पर फायरिंग करने वाले BJP विधायक

Maharashtra Firing Case: महाराष्ट्र में शिवसेना (शिंदे गुट) के विधायक को गोली मारने वाले बीजेपी विधायक गणपत गायकवाड़ (BJP MLA Firing On ShivSena Leader) की सफाई सामने आई है. उनका कहना है कि आत्मरक्षा में उन्होंने सहयोगी दल के नेता पर गोली चलाई. बीजेपी नेता का कहना है कि उनको इस बात का “कोई पछतावा नहीं” है, क्यों कि वह पुलिस स्टेशन के भीतर उनके बेटे की पिटाई कर रहे थे. हालांकि अब बीजेपी विधायक को गिरफ्तार कर लिया गया है.

क्यों मारी गोली? बीजेपी नेता ने बताया

बता दें कि जमीन विवाद को लेकर हुई बहस के बाद हुई गोलीबारी की घटना में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे गुट (ShivSena Leader) के महेश गायकवाड़ और एक अन्य समर्थक घायल हो गए. यह घटना शुक्रवार रात मुख्यमंत्री के गृह जिले ठाणे के उल्हासनगर में हुई. गोली चलाने वाले बीजेपी नेता ने एक न्यूज चैनल से कहा, “हां, मैंने (उसे) खुद गोली मारी, मुझे कोई अफसोस नहीं है. अगर मेरे बेटे को पुलिस स्टेशन के अंदर पुलिस के सामने पीटा जा रहा है, तो मैं क्या करूंगा.”

गणपत गायकवाड़ ने सीएम शिंदे पर भी तीखा हमला बोला. उन्होंने कहा कि सीएम शिंदे “महाराष्ट्र में अपराधियों का साम्राज्य बनाने की कोशिश कर रहे हैं.” रिपोर्ट में बीजेपी नेता के हवाले से कहा गया है कि, “शिंदे साहब ने उद्धव (ठाकरे) साहब को धोखा दिया, वह बीजेपी को भी धोखा देंगे. उन पर मेरे करोड़ों रुपये बकाया हैं. अगर महाराष्ट्र को अच्छी तरह से चलाना है तो शिंदे को इस्तीफा दे देना चाहिए. यह मेरा पीएम मोदी और डिप्टी सीएम देवेन्द्र फड़णवीस से विनम्र अनुरोध है.”

सीएम शिंदे पर बीजेपी विधायक का तंज

कल्याण ईस्ट विधायक एकनाथ शिंदे के उस विद्रोह का जिक्र कर रहे थे, जिसने 2022 में ठाकरे सरकार को गिरा दिया था. उन्होंने मुख्यमंत्री शिंदे के बेटे और सांसद श्रीकांत शिंदे पर उनके कार्यों का श्रेय लेने के लिए अपना बोर्ड लगाने का भी आरोप लगाया. शिंदे पर हमलावर बीजेपी विधायक ने कहा, “अगर एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री हैं, तो महाराष्ट्र में केवल अपराधी पैदा होंगे. उन्होंने आज मेरे जैसे अच्छे व्यक्ति को अपराधी बना दिया है.”

गोली चलाने वाला बीजेपी विधायक गिरफ्तार

बीजेपी विधायक ने कहा कि उनका बेटा पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराने गया था, लेकिन शिवसेना नेता के लोगों ने उसके साथ मारपीट शुरू कर दी, जिसकी वजह से उनको गोली चलानी पड़ी. उन्होंने दावा किया कि थाने में उन्होंने पांच राउंड फायरिंग की. बता दें कि यह घटना उस जीमन विवाद के चलते हुई, जिसे विधायक ने 10 साल पहले खरीदा था. उन्होंने दावा किया कि कुछ कानूनी दिक्कतें थीं लेकिन उन्होंने अदालत में केस जीत लिया, जिसके बाद महेश गायकवर्ड ने बलपूर्वक इस पर कब्जा कर लिया.वहीं पुलिस का कहना है कि गोली चलाने वाले बीजेपी विधायक गणपत गायकवाड़ और दो अन्य को हत्या की कोशिश के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. घायल शिवसेना नेता की हालत गंभीर बनी हुई है और वह वेंटिलेटर पर हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *