Budget 2024: वित्त मंत्री निर्मला के 'नवरत्न': जानिए कौन हैं वे 9, जो बना रहे हैं बजट -
Budget 2024

Budget 2024: वित्त मंत्री निर्मला के ‘नवरत्न’: जानिए कौन हैं वे 9, जो बना रहे हैं बजट

Budget 2024: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) आगामी 1 फरवरी को लगातार छठी बार बजट पेश करेंगी। हालांकि यह अगले वित्त वर्ष 2024-25 के लिए Interim Budget होगा। लेकिन तब भी बजट तो तैयार करने में उतनी ही मेहनत करनी पड़ रही है। निर्मला सीतारमण के इस छठे बजट को एक खास टीम तैयार कर रही है। इस बजट टीम में निर्मला सीतारमण के अलावा नवरत्न शामिल हैं, जो अपने अपने क्षेत्र के दिग्गज हैं। हम आपका परिचय उनसे करवाने जा रहे हैं।

टीम लीडर निर्मला सीतारमण

साल 2019 से ही बजट पेश कर रहीं सीतारमण भारत के इतिहास में लगातार छठा बजट पेश करने वाली दूसरी वित्त मंत्री बनने वाली हैं। इससे पहले मोरारजी देसाई ने भी 5 पूर्ण और 1 Interim Budget पेश किया था। आगामी एक फरवरी को वह मनमोहन सिंह, अरुण जेटली, पी चिदंबरम और यशवंत सिन्हा से भी आगे निकल जाएंगी। इन सभी को लगातार 5 साल बजट पेश करने का मौका मिला था। देश के अग्रणी जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) से इकोनॉमिक्स की पढ़ाई करने वाली सीतारमण ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पहले कार्यकाल में वाणिज्य और रक्षा मंत्रालय का कार्यभार संभाला था। वह कर्नाटक से राज्यसभा सांसद हैं।

टीवी सोमनाथन

तमिलनाडु के आईएएस अधिकारी टीवी सोमनाथन (TV Somanathan) इस समय केंद्रीय वित्त मंत्रालय सबसे सीनियर सेक्रेटरी हैं। इसलिए उनके पास फाइनेंस सेक्रेटरी की भी जिम्मेदारी है। 1987 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) अधिकारी सोमनाथन ने अप्रैल, 2015 से अगस्त, 2017 तक प्रधानमंत्री कार्यालय में काम किया था। वह पीएम मोदी के करीबी माने जाते हैं। साल 2020 में वह केंद्रीय वित्त मंत्रालय में एक्सपेंडिचर सेक्रेटरी बने थे। तभी से वह बजट निर्माण की प्रक्रिया से भी नजदीक से जुड़े हुए हैं।

अजय सेठ

कर्नाटक कैडर में 1987 बैच के आईएएस अधिकारी अजय सेठ (Ajay Seth) इस वित्त मंत्रालय में आर्थिक मामलों के विभाग के सचिव हैं। वह साल साल 2021 में वित्त मंत्रालय आए थे और मंत्रालय के अति महत्वपूर्ण बजट डिवीजन को लीड किया। पिछले साल भारत की अध्यक्षता में हुई G20 बैठक के दौरान वह चर्चा में आए थे।

तुहिन कांत पांडेय

निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (DIPAM) में सचिव तुहिन कांत पांडेय (Tuhin Kanta Pandey) को एयर इंडिया (Air India) के प्राइवेटाइजेशन और एलआईसी (LIC) के आईपीओ में निभाई भूमिका के लिए जाना जाता है। पांडेय ओडिशा कैडर में 1987 बैच के आईएएस अधिकारी हैं।

संजय मल्होत्रा

राजस्थान कैडर में 1990 बैच के अधिकारी संजय मल्होत्रा (Sanjay Malhotra) फिलहाल रेवेन्यू सेक्रेटरी हैं। वह आईएएस की परीक्षा में अपने बैच के टॉपर थे। इससे पहले वह वित्तीय सेवा विभाग यानी बैंकिंग डिवीजन में सेक्रेटरी थे। बजट प्रक्रिया में मल्होत्रा ​​टैक्स रेवेन्यू बढ़ाने की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। साथ ही उन पर वित्त मंत्री सीतारमण के बजट भाषण के भाग बी का मसौदा तैयार करने की जिम्मेदारी भी है।

विवेक जोशी

विवेक जोशी (Vivek Joshi) बजट पर वित्त मंत्री के सलाहकारों के समूह में सबसे नए सदस्य में गिने जाते हैं। वह नवंबर, 2022 में वित्तीय सेवा विभाग के सचिव के रूप में वित्त मंत्रालय में शामिल हुए। हरियाणा कैडर में 1989 बैच के अधिकारी जोशी पहले भारत के रजिस्ट्रार जनरल और जनगणना कमिश्नर थे। बैंक, वित्तीय संस्थान, इंश्योरेंस कंपनियां और नेशनल पेंशन सिस्टम जैसे सेक्टर के बारे में महत्वपूर्ण फैसला लेने में जोशी वित्त मंत्री के सहायक होंगे।

नितिन गुप्ता

भारतीय राजस्व सेवा में इनकम टैक्स विभाग के अधिकारी नितिन गुप्ता इस समय केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड या सीबीडीटी के चेयरमैन हैं। वह बजट में आयकर, कारपोरेट कर और प्रत्यक्ष कर से जुड़े सभी प्रस्तावों को तैयार करने में मदद करेंगे। माना जा है कि आम चुनाव से पहले पेश हो रहे इस Budget 2024 में उनका प्रस्ताव अहम होगा।

संजय कुमार अग्रवाल

भारतीय राजस्व सेवा में जीएसटी और कस्टम विभाग के अधिारी इस समय सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडाइरेक्ट टैक्स एंड कस्टम के चेयरमैन हैं। इस Budget 2024 में शामिल होने वाले अप्रत्यक्ष कर संबंधी सभी प्रस्ताव उन्हीं की टेबल से होकर गुजरेंगे। कई कमोडिटी पर कस्टम ड्यूटी में बदलाव और जीएसटी से जुड़े प्रस्तावों पर उनकी नजर रहेगी।

​वी अनंत नागेश्वरन

वी अनंत नागेश्वरन (V Anantha Nageswaran) भारत सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार हैं। उन्हें एक लेखक और शिक्षक के तौर पर भी जाना जाता है। वह अर्थव्यवस्था के मसले पर सीतारमण के सबसे करीबी सलाहकारों में से एक हैं। वह ग्लोबल उठापटक का भारतीय इकोनॉमी पर पड़ने वाले प्रभावों की देखरेख भी करते हैं।

आशीष वछानी

तमिलनाडु कैडर में 1997 बैच के आईएसएस अधिकारी इस समय केंद्रीय वित्त मंत्रालय के बजट डिवीजन में एडिशनल सेक्रेटरी हैं। एक तरह से कह लीजिए तो वह देश के चीफ बजट ऑफिसर हैं। वह कुछ बजट के लिए वेटेरन अधिकारी माने जाते हैं। लंदन स्कूल ऑफ इकोनोमिक्स से पब्लिक मैनेजमेंट और गवर्नेंस में पोस्टग्रेजुएट की उपाधि प्राप्त करने वाले वछानी को पॉलिसी फार्मुलेशन एंड इंप्लीमेंटेशन का लंबा अनुभव है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *