Surya Grahan 2022: सूतक काल जारी, न करें इन नियमों की अनदेखी, मिल सकते हैं अशुभ परिणाम -
Surya Grahan 2022

Surya Grahan 2022: सूतक काल जारी, न करें इन नियमों की अनदेखी, मिल सकते हैं अशुभ परिणाम

आज साल का दूसरा और अंतिम सूर्य ग्रहण (Surya Grahan 2022) लग रहा है। ये सूर्य ग्रहण 4 घंटे, 3 मिनट का होगा। सूर्य ग्रहण दोपहर में 02 बजकर 29 मिनट पर आरंभ होगा और इसका समापन शाम 06 बजकर 32 मिनट पर होगा। हालांकि भारत में में इसकी शुरुआत शाम को 04 बजकर 22 मिनट से होगी और यहां यह सूर्यास्त के साथ ही समाप्त हो जाएगा।

आज लगने वाला सूर्य ग्रहण (Surya Grahan 2022) आंशिक सूर्य ग्रहण है। सूतक काल सूर्य ग्रहण से 12 घंटे पूर्व आरंभ होता है। अब जब भारत में सूर्य ग्रहण शाम 04:22 से लगेगा ऐसे आज सूतक काल सुबह 04:22 मिनट से आरंभ हो चुका है। ग्रहण काल के साथ सूतक काल में भी बहुत से नियमों पर ध्यान देना आवश्यक है। यदि आप सूतक काल के दौरान नियमों की अनदेखी करेंगे तो इसका अशुभ परिणाम भुगतना पड़ सकता है।

सूतक काल के नियम

Sutak period (सूतक काल) में किसी भी प्रकार का भोजन ग्रहण न करें। हालांकि बीमार, वृद्ध और गर्भवती महिलाओं के लिए इस तरह के नियम लागू नहीं हैं।
बने हुए भोजन में तुलसी का पत्ता तोड़कर डाल दें। तुलसी के पत्ते के कारण दूषित वातावरण का प्रभाव खाद्य वस्तुओं पर नहीं पड़ता।
सूतक लगने के साथ गर्भवती महिलाएं विशेष रूप से ध्यान रखें।
सूतक काल से लेकर ग्रहण पूरा होने तक घर से न निकलें और अपने पेट के हिस्से पर गेरू लगाकर रखें।
Sutak period (सूतक काल) में गर्भवती स्त्रियां किसी भी प्रकार की नुकीली वस्तुओं जैसे कैंची, चाकू, छुरी या सुई का इस्तेमाल न करें।
सूतक काल में घर के मंदिर में भी पूजा पाठ न करें। हो सके तो मंदिर में पर्दा लगाकर रखें।

क्या है सूतक काल?

ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार सूतक काल सूर्य ग्रहण से 12 घंटे पूर्व प्रारंभ हो जाता है, जबकि चंद्र ग्रहण में सूतक काल 09 घंटे पूर्व प्रारंभ होता है। सूतक काल को एक प्रकार से अशुभ समय माना जाता है। इसमें कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जा सक्तीय है। सूतक काल का अंत ग्रहण खत्म होने के बाद ही होता है। जिस स्थान पर सूर्य ग्रहण या कोई भी ग्रहण दिखता है वहीं पर सूतक काल मान्य होता है।

देश में आंशिक सूर्य ग्रहण (Surya Grahan 2022) जारी…

अमृतसर, श्रीनगर, जम्मू, वृंदावन, दिल्ली NCR समेत देश के कई हिस्सों में सूर्य ग्रहण देखा जा रहा है। 27 साल बाद दिवाली के बाद लगा आंशिक Surya Grahan । यह सूर्य ग्रहण भारत में 30 प्रतिशत जबकि रूस और चीन में यह 80 प्रतिशत सूर्य ग्रहण दिखाई देगा।

साल का आखिरी सूर्य ग्रहण जारी…अमृतसर में सबसे पहले दिखा सूर्य ग्रहण

भारत में अमृतसर में सबसे पहले दिखा साल का आखिरी सूर्य ग्रहण। आइसलैंड में भारतीय समय के अनुसार दोपहर 02 बजकर 29 मिनट से ग्रहण शुरू हो चुका है। शाम 4 बजकर 30 मिनट पर रूस में ग्रहण अपने चरम पर होगा और 6 बजकर 33 मिनट पर ग्रहण खत्म हो जाएगा। यह ग्रहण करीब 2 घंटे तक रहेगा। भारत के ज्यादतर हिस्सों में इस आंशिक सूर्य ग्रहण को देखा जा सकता है। सूर्यास्त के साथ ही ग्रहण खत्म हो जाएगा।

विदेश में सूर्य ग्रहण (Surya Grahan 2022) जारी

यूरोप, उत्तरी अफ्रीका और एशिया के कुछ भागों में साल का आखिरी आंशिक सूर्य ग्रहण जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *