इस बार 80% महिलाएं, फ्रांस के फाइटर जेट... गणतंत्र दिवस परेड की खास बातें जान लीजिए -
Republic Day Parade 2024

इस बार 80% महिलाएं, फ्रांस के फाइटर जेट… गणतंत्र दिवस परेड की खास बातें जान लीजिए

Republic Day Parade 2024: गणतंत्र दिवस परेड में इस बार पहली बार भारत की नारी शक्ति पूरे कर्तव्य पथ पर छाई रहेगी। परेड में 80 फीसदी महिलाएं होंगी। ऐसा पहली बार है जब बड़ी संख्या में ऑल विमिन दस्ते मार्च करेंगे। भारतीय सेना की आर्टिलरी महिला ऑफिसर भी पहली बार कर्तव्य पथ पर दिखाई देंगी। साथ ही सेना की मिडियम रेंज सर्फेस टू एयर मिसाइल भी पहली बार Republic Day Parade 2024 में शामिल होगी। फ्रांस का मार्चिंग दस्ता भी परेड का हिस्सा होगा और फ्रांसीसी फाइटर जेट राफेल भी उड़ान भरेंगे।

सेना के दिल्ली एरिया के चीफ ऑफ स्टाफ मेजर जनरल सुमित मेहता ने बताया कि परेड में 80 फीसदी महिलाएं होंगी। पहली बार ट्राई सर्विस दस्ता यानी आर्मी, नेवी और एयरफोर्स की महिलाओं का दस्ता भी कर्तव्य पथ पर मार्च करेगा। इसमें आर्मी की सीएमपी की महिलाएं और नेवी और एयरफोर्स की महिला अग्निवीर होंगी, जिसे इंडियन आर्मी की ऑफिसर लीड करेंगी। CAPF का भी ऑल विमिन दस्ता है और BSF के ऊंट पर सवार दस्ते में महिलाएं भी होंगी। परेड की शुरुआत भी महिलाएं भारतीय वाद्य यंत्रों के साथ करेंगी।

फ्रांस का दस्ता करेगा मार्च, गरजेगा राफेल

फ्रांस का फॉरेन लीजन का मार्चिंग दस्ता भी परेड में शामिल होगा। मेजर जनरल सुमित मेहता ने बताया कि परमवीर और अशोक चक्र विजेताओं के पीछे फ्रांस का मार्चिंग दस्ता होगा। जब फ्रांस का दस्ता मार्च कर रहा होगा तो उसके साथ ही आसमान पर फ्रांस के दो राफेल फाइटर जेट और मल्टी रोल ट्रांसपोर्ट टैंकर उड़ान भरेंगे। यह ट्रांसपोर्ट टैंकर एक बार में दो फाइटर जेट को रीफ्यूल कर सकता है। फ्रांस के राफेल जेट अपने बेस से उड़ान भरकर आएंगे और फिर लौट जाएंगे।

पहली बार दिखेगा खास मिसाइल सिस्टम

परेड में पहली बार भारतीय सेना का MRSAM (मिडियम रेंज सर्फेस टू एयर मिसाइल सिस्टम) दिखेगा। इसे लीड करेंगी भारतीय सेना की लेफ्टिनेंट सुमेधा तिवारी। लेफ्टिनेंट तिवारी ने बताया कि इस मिसाइल की खासियत यह है कि यह दुश्मन के ड्रोन, फाइटर जेट, क्रूज मिसाइल को लॉन्ग रेंज में ही इंगेज कर उन्हें नष्ट करता है। यह हमारे क्रिटिकल असेस्ट्स को एरिया एयर डिफेंस देता है। मल्टी फंक्शनल रेडार भी कर्तव्य पथ पर दिखाई देगा। ये अडवांस रेडार है जो MRSAM सिस्टम को पूरे एरिया की जानकारी देता है। इसकी रेंज करीब 300 किलोमीटर है। MRSAM लॉन्चर से सुपरसोनिक मिसाइल को लॉन्च करते हैं।

आर्टिलरी महिला ऑफिसर भी पहली बार

भारतीय सेना की आर्टिलरी महिला ऑफिसर भी पहली बार परेड में शिरकत करेंगी। पिछले साल से ही सेना ने अपनी आर्टिलरी आर्म को महिला ऑफिसर्स के लिए खोला है। पिछले साल अप्रैल में 5 महिला ऑफिसर आर्टिलरी में शामिल हुई और पांच महिला ऑफिसर सितंबर में आर्टिलरी का हिस्सा बनीं। भारतीय सेना में इंफ्रेंट्री के बाद सबसे बड़ी आर्म आर्टिलरी ही है। आजादी के बाद कई जंग में आर्टिलरी रेजिमेंट ने अपना लोहा मनवाया है। युद्ध के मैदान में आर्टिलरी को गेम चेंजर कहा जाता है।

फ्रांस से दोस्ती की मजबूती

फ्रांस के साथ भारत की सामरिक और राजनयिक दोस्ती लगातार मजबूत हो रही है और गणतंत्र दिवस समारोह इसका गवाह रहा है। भारतीय नौसेना को फ्रांस से जल्द ही राफेल-एम फाइटर जेट मिलने हैं और तीन स्कॉर्पीन सबमरीन भी मिलनी हैं। इस बार फ्रांस के राष्ट्रपति गणतंत्र दिवस परेड के मुख्य अतिथि हैं। यह छठी बार है जब फ्रांस के राष्ट्रपति गणतंत्र दिवस परेड में अतिथि हैं। फ्रांस इकलौता ऐसा देश हैं जिसके राष्ट्रपति सबसे ज्यादा बार भारत के गणतंत्र दिवस परेड में मुख्य अतिथि के तौर पर आए हैं। 2016 में भी फ्रांस के राष्ट्रपति मुख्य अतिथि थे और तब भी फ्रांस का मार्चिंग दस्ता परेड में शामिल हुआ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *