World Cup 2023 Semi-Final: गेंदबाजों के लिए 'कब्रगाह' वानखेड़े की पिच पर कैसे तांडव करेंगे भारतीय? पारस म्हाम्ब्रे ने बताया मंत्र! -
World Cup 2023 Semi-Final

World Cup 2023 Semi-Final: गेंदबाजों के लिए ‘कब्रगाह’ वानखेड़े की पिच पर कैसे तांडव करेंगे भारतीय? पारस म्हाम्ब्रे ने बताया मंत्र!

9 अलग विकेट पर 9 मैच, यूं ही नहीं भारतीय बॉलिंग सुपर हिट

World Cup 2023 Semi-Final: जसप्रीत बुमराह (17 विकेट), मोहम्मद शमी (16 विकेट), मोहम्मद सिराज (12 विकेट), रविंद्र जडेजा (16 विकेट) और कुलदीप यादव (14 विकेट) ने टूर्नामेंट में अब तक अपना जलवा बिखेरा है। रविवार को नीदरलैंड के खिलाफ मैच के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने म्हाम्ब्रे के हवाले से कहा, ‘विभिन्न कौशल के मामले में हमारे पास किसी भी चुनौती का सामना करने की क्षमता है। विभिन्न सतहों पर, ऐसा करने के लिए हमारे पास गेंदबाज हैं और हमने ऐसा किया है।’ उन्होंने कहा, ‘हम एकमात्र टीम थे जिसे अपने मुकाबले नौ अलग स्थलों पर खेले। इसलिए हम 9 अलग विकेट पर खेले, 9 अलग चुनौतियां।’

भारत के पास बुमराह जैसे मैच विनर हैं, कहीं भी कमाल कर सकते हैं

म्हाम्ब्रे ने कहा, ‘हमारे पास इन हालात का फायदा उठाने के लिए सही गेंदबाज थे और उन्होंने यह दर्शाया। वे सभी किसी भी दिन अपने देश के लिए मैच जीतने में सक्षम हैं।’ म्हाम्ब्रे ने गेंद को दोनों ओर मूव कराने की क्षमता के लिए बुमराह की सराहना की जबकि सीम गेंदबाजी के लिए शमी की तारीफ की। गेंदबाजी कोच ने कहा, ‘बुमराह का एक्शन काफी अलग है। उसने (चोट के बाद) जिस तरह वापसी की उसे देखिए। उसका कौशल, अलग तरह का एक्शन। वह आपको पूरी तरह छका देता है। अब वह गेंद को दोनों ओर मूव कराता है। वह गेंद को अंदर लाता है और गेंद को बाहर ले जाता है। वह खतरनाक बन गया है।

शमी की सीम कमाल की है

उन्होंने कहा, ‘शमी ऐसा गेंदबाज है जो सीम पर काम करता है। आपको नहीं पता कि शमी की गेंद कब सीम पर टकराएगी और किस ओर मूव करेगी।’ म्हाम्ब्रे ने कहा, ‘सिराज ने पिछले कुछ वर्षों में काफी प्रगति की है। वह अपनी गेंदबाजी को समझता है। उसने विभिन्न कौशल का इस्तेमाल शुरू कर दिया है।’ उन्होंने कहा, ‘शुरुआत में उसकी गेंद दाएं हाथ के बल्लेबाजों के लिए अंदर आती थी लेकिन अब वह गेंद को बाहर भी ले जाने लगा है।’ स्पिनरों का आकलन करते हुए म्हाम्ब्रे ने सटीक गेंदबाजी के लिए जडेजा की सराहना की जबकि अपनी गेंदबाजी में जरूरी बदलाव करने के लिए कुलदीप की भी तारीफ की।

म्हाम्ब्रे ने कहा,‘उसकी क्षमता सामान्य सी है। वह बिलकुल सही लेंथ पर गेंद करता है। बेहद सटीक। वह अपनी गेंदबाजी को लेकर काफी किफायती है। बल्लेबाज का कोई मौका नहीं देता।’ उन्होंने कहा ‘कुलदीप ने पिछले कुछ वर्षों में जो किया है वह काफी अच्छा लगा। उसने अपने रन अप में थोड़ा तकनीकी बदलाव किया जिससे उसे काफी मदद मिली।’ रविचंद्रन अश्विन को भले ही सिर्फ एक मैच खेलने को मिला हो लेकिन म्हाम्ब्रे का मानना है कि अनुभव के मामले में यह ऑफ स्पिनर काफी योगदान दे सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *